Home / Node / राज्य हित हो सर्वोपरि- रघुवर दास

राज्य हित हो सर्वोपरि- रघुवर दास

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने शुक्रवार को झारखण्ड मंत्रालय में उत्पाद परिवहन और वाणिज्य कर विभाग की समीक्षा बैठक की और अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व उगाही की नियमित समीक्षा करें, जिससे लक्ष्य के अनुरूप राजस्व प्राप्तियां हो और कार्यशैली में प्रोफेशनलिज्म दिखे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्य राज्यों में जो बेहतर कार्य प्रणाली है उसका अध्ययन कर उसे भी लागू करें। राज्य हित में जो भी सबसे अच्छा है, उसे लागू करने में पीछे ना हटे। सभी विभागों में मैन पावर तथा अन्य आवश्यकता को पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैन पावर की अद्यतन स्थिति का विश्लेषण होना चाहिए। जहां जरूरत है उन्हें लगाएं और जहां काम नहीं है वहां से हटायें।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि अवैध शराब के निर्माण और पैकेजिंग के कारोबार पर रेड करें। सूचना देने वालों के नाम गोपनीय रखें, उसे रिवार्ड भी दें। समाज में कानून का शासन प्रतिलक्षित होना चाहिए। इसके साथ ही अवैध कारोबार रोकने तथा मद्यपान की बुराइयों पर अभियान चलाया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व आय अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करती है, इसलिए तुलनात्मक रूप से नियमित समीक्षा करते हुए कार्य करें। जरूरत हो तो पॉलिसी में भी बदलाव लाएं।

बैठक में परिवहन मंत्री श्री सीपी सिंह, मुख्य सचिव श्री सुधीर त्रिपाठी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री सुखदेव सिंह, अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर श्री के.के. खंडेलवाल, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. सुनील कुमार वर्णवाल, उत्पाद सचिव श्री राहुल शर्मा, परिवहन सचिव श्री प्रवीण टोप्पो, उत्पाद आयुक्त श्री भोर सिंह यादव तथा अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित रहे।